यह ब्लॉग खोजें

संघर्ष लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
संघर्ष लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

2021-07-14

असफलता आपकी सफलता के पीछे की कुंजी है


जीवन में हर कोई सफल होना चाहता है लेकिन असफल कोई नहीं होना चाहता,लेकिन क्यों?लोग असफलता से क्यों डरते हैं?आजकल लोग सोचते हैं कि शीर्ष स्तर की स्थिति तक पहुंचने के लिए उन्हें बाघ की तरह एक बड़ी छलांग लगानी होगी।उनके अनुसार सफल जीवन जीना बहुत आसान है।वे दूसरे लोगों की सफलता देखते हैं और ईर्ष्या महसूस करते हैं।वे सिर्फ एक व्यक्ति के जीवन के सामने का पक्ष देखते हैं लेकिन वे नहीं जानते कि उसने एक सफल बनने के लिए कितना संघर्ष किया है।उसे जीवन में कितनी बार असफलता का सामना करना पड़ता है? क्या उन्होंने अपना संघर्ष बंद कर दिया? क्या वे हीन भावना के शिकार हो गए?


                        


आज मैं यह लेख सिर्फ इसी मकसद से लिख रहा हूं ताकि लोगों में जागरूकता फैलाई जा सके कि आप अपनी असफलताओं से न डरें।असफलताएं आपके जीवन के प्रमुख बिंदु हैं।बिना असफलता के आप सफल जीवन नहीं पा सकते।यह प्रकृति का सुनहरा नियम है कि आपको अपने जीवन में जो चाहिए उसके लिए संघर्ष करना पड़ता है।आपकी सफलता आपके दृढ़ संकल्प,कठिनाइयों और संघर्ष की एक रचना है।इसके लिए आपको सकारात्मक रहना होगा और अपने जीवन के विभिन्न चरणों में धैर्य रखना होगा।

       

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती-जानिए 

सफलता के 3 मूल सिद्धांत-जानिए 

असफलता से बचने के उपाय और टोटके-जानिए

 

असफलता ही इंसान को सफलता का मार्ग दिखाती है

 

मंजिल के प्रति आपका सकारात्मक दृष्टिकोण और दृढ़ संकल्प बहुत आवश्यक है क्योंकि यदि आप किसी भी असफलता का सामना करते हैं तो आपको इसे सकारात्मक रूप से लेना होगा और इस साहस के साथ अपने दृढ़ संकल्प को बढ़ाना होगा कि आप अगले प्रयास में बेहतर कर सकें।आपको ऐसा सोचना होगा कि मैं असफल क्यों हूं?क्या मैंने कोई निर्देश याद किया है?मेरी असफलता के क्या कारण हैं?जब आप इस पैटर्न पर अपनी विफलता का विश्लेषण करते हैं,तो आपको अगले प्रयास के लिए बेहतर दिशा-निर्देश मिलते हैं।

 

अपने लक्ष्य पर लगातार बने रहना आपको सफलता की ओर ले जाता है।असफलता आपकी सफलता के पीछे की कुंजी है, बस बाज का उदाहरण लें,अपने शिकार के प्रति उसकी निरंतरता और दृढ़ संकल्प शक्ति इतनी अधिक है क्योंकि वह जानता है कि उसके पास अपने शिकार को पकड़ने का केवल एक ही मौका है।इसका मतलब यह नहीं है कि उसने हर बार अपने शिकार को पकड़ा है।कभी-कभी,वह असफल हो जाता है,लेकिन वह अपनी गलतियों से सीखता है और सफल होने तक बार-बार प्रयास करता है।


 

जीवन केवल पूर्ण अवकाश और आनंद का नाम नहीं है।अपने लक्ष्य के प्रति अपने धैर्य को परखने के लिए ही जीवन कठिनाइयों से भरा है।उतार-चढ़ाव व्यक्ति के जीवन का हिस्सा हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि व्यक्ति अपनी आशा खो देता है।आपको बस इन कठिनाइयों का साहस के साथ सामना करने की जरूरत है और आपको बस अपने निर्माता पर विश्वास रखना है।

 

अपने आप में विश्वास सफलता के लिए पहला रहस्य है

 

उन सभी लोगों ने कठिनाइयों का सामना किया है जो उनके जीवन में सफल होते हैं।लेकिन ये कठिनाइयाँ उन्हें अपने लक्ष्य से विचलित नहीं कर सकीं।क्या आप एक गरीब आदमी की कठिनाइयों की कल्पना कर सकते हैं?उसे सिर्फ अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए बहुत कम वेतन पैकेज पर काम करना पड़ता है।गरीब आदमी अपने जीवन के लिए आराम नहीं चाहता है लेकिन उसका सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य अपने परिवार को आराम प्रदान करना है।

 

उसे अपने नियोक्ता के कठोर व्यवहार को सहन करना पड़ता है क्योंकि आय का कोई अन्य संसाधन नहीं है।लेकिन,वह उम्मीद नहीं छोड़ते और अपने परिवार को अपनी आंखों के सामने रखकर इन तमाम मुश्किलों का सामना करते हैं।


असफलता ही सफलता का स्तंभ है

 

एक बात याद रखना;आपकी असफलताएं आपकी सफलता के पीछे की कुंजी है।एक छोटे बच्चे की तरह कदम उठाएं जो तुरंत नहीं दौड़ सकता।सबसे पहले, वह रेंगने की कोशिश करता है और फिर खड़े होने की कोशिश करता है।खड़े होने की कोशिश में वह कई बार फेल हो जाता है लेकिन अपनी कोशिशों को नहीं रोकता है।अगर छोटा बच्चा हार नहीं मान सकता तो आप हार क्यों मानते हैं।संघर्ष का मतलब है कि आप अपने सपनों, लक्ष्यों और उपलब्धियों के दीवाने हैं। 

 

किसी भी समय, यदि आप अपना संघर्ष हार जाते हैं, तो आप उस स्थिति से नीचे गिर जाएंगे जो आपने प्राप्त की है।यहाँ एक मुख्य बिंदु है;उन चीजों के लिए संघर्ष करने की आवश्यकता नहीं है जो दूसरे लोग चाहते हैं,हमेशा उन चीजों के लिए संघर्ष करें जो आप चाहते हैं क्योंकि आपकी रुचि का क्षेत्र बहुत मायने रखता है।


अंत में मैं बस इतना ही कहना चाहता हूं कि असफलताएं आपको अपने लक्ष्यों को हासिल करने से नहीं रोक सकतीं।सभी असफलताएं आपके लिए सबक हैं।यदि आप अपनी असफलताओं से नहीं सीखते हैं,तो यह आपकी गलती है।मैं इसे दोहराता हूं,असफलताएं सिर्फ प्रेरणा हैं।दूसरे लोग क्या कहते हैं,इस पर ध्यान न दें। बस अपने जीवन और उसके लक्ष्य पर ध्यान दें।

2021-07-13

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती|money can't buy happiness


 

मुझे यकीन है कि ऐसे बहुत से लोग होंगे जो इस लेख को पढ़ेंगे और सोचेंगे कि मैं पागल हूं।सच कहूं तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।इस लेख में मैं इस बारे में लिखता हूं कि मेरी विनम्र राय में जीवन,स्वास्थ्य और खुशी में सबसे महत्वपूर्ण चीजें क्या हैं।



मेरे ज्यादातर रिश्तेदार और दोस्त पैसे को तरजीह देते हैं 

कार के बारे में पूछते हैं की आपके पास कौन सी कार है? 

आपका घर कैसा और कितनी कीमत का है ?

तुम्हारी महीने की तनख्वाह कितनी है ?

आपके सूट की कीमत कितनी थी?

आप समर वकेशंस पर बच्चो के साथ कहाँ घूमने जा रहे हो ?


                        


मुझे यह सब बहुत उबाऊ लगता है और मुझे लगता है कि वे बहुत दुखी हैं।पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती ऐसा लगता है कि वे किसी तरह की प्रतिस्पर्धा में हैं और वे मूल रूप से पैसे के लिए जुनूनी हैं।



मैं आपको ऐसे ही एक दोस्त का उदाहरण दूंगा,उसका नाम रवि है।वह कभी भी किसी और चीज के बारे में बात नहीं करते हैं और हमेशा अमीर त्वरित योजनाओं की तलाश में रहते हैं।वह एक लॉटरी सिंडिकेट में भी है, जिसके करीब पचास सदस्य हैं।प्रत्येक सदस्य प्रति सप्ताह लगभग दस पाउंड का भुगतान करता है। 

 

क्या आप प्रभावी रूप से ब्लॉगिंग कर रहे हैं-जानिए 

बदलाव पर सुविचार|thoughts on chang-जानिए 

सफलता के 3 मूल सिद्धांत-जानिए

 

रवि शनिवार की रात को सामाजिक रूप से बाहर जाना पसंद करते हैं, हालांकि लॉटरी ड्रॉ के समय जल्द ही पैरों में खुजली होने लगती है।कुछ मिनट बाद वह शौचालय जाएगा जहां वह अपनी प्रेमिका को फोन करेगा।वह अपने साथ शौचालय में अपने नंबरों के साथ कागज का एक टुकड़ा और एक छोटा पेन ले जाता है।सकी प्रेमिका द्वारा उसे बताए जाने के बाद कि कौन सी संख्याएँ खींची गई हैं रवि  तब लगभग बीस मिनट तक अपनी संख्याओं की जाँच करेगा और फिर यह देखने के लिए फिर से जाँच करेगा कि क्या उसके पास कोई जीतने वाली रेखा है।



आखिरकार वह उस समूह में लौट आता है जो(मेरे अलावा) यह पता लगाने के लिए बहुत उत्सुक लगता है कि उसने कितना जीता/हारा है।आज तक उसने केवल छोटी रकम ही जीती है, लेकिन आश्वस्त है कि एक दिन वह करोड़पति बन जाएगा।फिर वह लॉटरी के बारे में बात करना शुरू कर देगा, अन्य लोगों से पूछेगा कि अगर वे भाग्यशाली रहे तो वे क्या खरीदेंगे।इस बिंदु पर मैं बहुत ऊब जाता हूं और काश मैं घर पर रहकर टेलीविज़न का मजा लेता ।



मेरे लिए जीवन में दो सबसे महत्वपूर्ण चीजें हैं स्वास्थ्य और खुशी। ये दो चीजें हैं जिन्हें पैसे से नहीं खरीदा जा सकता।कुछ साल पहले मेरे पिताजी की तबीयत खराब हो गई थी।वह वास्तव में खराब स्थिति में था और उसे लगभग पांच महीने अस्पताल में बिताने पड़े।उनका बीमार होना मेरे लिए बहुत बड़ा सदमा था क्योंकि वह केवल सत्तावन वर्ष के थे।मुझे सबसे ज्यादा डर था,भले ही मैं सोचने और सकारात्मक रहने की पूरी कोशिश कर रहा था।मुझे याद है कि अगर मैंने उन डॉक्टरों को दुनिया में अपना सब कुछ दे दिया,तो भी यह उनकी मदद नहीं करेगा।मैं खुद को शक्तिहीन महसूस कर रहा था और उस पल मुझे एहसास हुआ कि पैसा केवल कागज है।


खुशी वही है, मुझे याद है इक्कीस साल की उम्र में बहुत सारा पैसा था और मुझे आश्चर्य हुआ था कि मैं उसी समय उदास हो गया था।अन्य समय में मेरे पास कोई पैसा नहीं था और मैं बेहद खुश था।




2021-07-12

क्या आप प्रभावी रूप से ब्लॉगिंग कर रहे हैं|Are you blogging effectively

 

 

आज के दौर मे बहुत से लोग Blogging लिख कर पैसे कमाना चाहते हैं लेकिन उन्हें यह जितना आसान लगता है उतना है नहीं यह एक तरह से आपकी परीक्षा लेता है और यह देखता है आपके अंदर कितना सबर है। व्यापक ब्लॉगिंग फिर भी पिछले कुछ वर्षों के सबसे आकर्षक इंटरनेट विकासों में से एक है।एक माध्यम के रूप में यह कई नई और योग्य आवाजों को जन्म देता है और राय, राजनीतिक वास्तविकताओं,प्रवृत्तियों और यहां तक ​​कि हमारी भाषा को आकार देने में एक नई और महत्वपूर्ण शक्ति निभाता है।

 

ब्लॉग क्या है

                                        


मेरा मानना ​​​​है कि ब्लॉग लिखने से आपके अंदर जो विचार उत्पन हो रहे हैं वो इंटरनेट के माद्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे और आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा प्रक्रिया आये यदि आप इन सब पर ध्यान लाना चाहते हैं और उम्मीद करते हैं कि ब्लॉगिंग आपके लिए आपके लिए ये करेगा तो आपको इन सबके लिए थोड़ा इंतज़ार और धैर्य के जरूरत होगी।हालाँकि,यदि आप दूसरों को उन विषयों पर लिखना और संलग्न करना पसंद करते हैं,जिनके लिए आपके पास  कुछ  अच्छे  विचार और अनुभव मौजूद हैं,तो यह एक अद्भुत  है जिसके साथ आप उन लोगों के साथ बातचीत कर सकते हैं जो आपके समान रुचियों को साझा करते हैं।  

 

बदलाव पर सुविचार|thoughts on change-जानिए

सफलता के 3 मूल सिद्धांत|3 fundamentals of success-जानिए

Tips to avoid failure in success |सफलता|-जानिए

काला कवक या फफूंदी - Black Fungus क्या है ?-जानिए

 

प्रभावी रूप से ब्लॉगिंग करने के लिए नीचे कुछ tips दिए गए हैं:-


1.) सामयिक बनें।


आपके पाठकों को आपके विषय में दिलचस्पी हो सकती है या नहीं भी, लेकिन अगर आपका Blog अच्छे विषयों पर नहीं है और जो सामग्री उसमे लिखी गयी है वह भी संगठित नहीं है तो कुछ लोग आपके ब्लॉग से वापस जाने के लिए मज़बूर हो जायेंगे क्योंकि आपके पाठक जो चीज आपके ब्लॉग पर ढूंढ रहे वह उन्हें  नहीं मिली  यह उनके लिए बेहद ही ख़राब experience होगा और शायद ही वह आपके ब्लॉग पर वापिस आये।इसका मतलब यह नहीं है कि ब्लॉग एक विषय से दूसरे विषय पर नहीं जा सकते। उदाहरण के लिए,एक विनोदी फोकस वाले ब्लॉग में विषय वस्तु के लिए दुनिया में सभी छूट हैं,लेकिन ऐसे ब्लॉग के लिए हास्य को चालू और बंद करना मूर्खता होगी।बिंदु और विषय पर बने रहने की सुंदरता यह है कि अंततः, इंटरनेट की प्रकृति के कारण,आप केवल अपने विषय में रुचि रखने वालों को पाएंगे।इंटरनेट पर उनमें से लाखों हैं।


 

2.) अपनी सामग्री को ताज़ा करें


एक शेड्यूल बनाएं और जो कुछ भी आपने लिखा है उसे अपडेट करते रहें तभी आप प्रभावी रूप से ब्लॉगिंग कर पाएंगे ।यह महसूस करते हुए कि ब्लॉगिंग के लिए समय और प्रयास की आवश्यकता होती है, ज्यादा अपेक्षाएं न बनाएं।एक सामयिक चूक या छुट्टी को आम तौर पर समझा जाता है लेकिन बासी,पुरानी सामग्री को खोजने के लिए लौटने वाले पाठक समान सामग्री के साथ एक और ब्लॉग खोजने जा रहे हैं।नए ब्लॉग और ताज़ा जानकारियाँ निरंतर चलन मे आ रहे है अगर आप बासी जानकारीयों के साथ चलते रहेंगे तो आप पिछड़ जायेंगे।यदि आपने दर्शकों और एक समुदाय को विकसित करने के लिए कड़ी मेहनत की है तो आप संचार की कमी के कारण उन्हें खोना नहीं चाहते ।


और याद रखें,जो पुराना है वह नया नहीं है और ब्लॉग के लिए इस प्रकार दिलचस्प नहीं है और आपको उसे निरंतर नया बनाये रखना होगा 

 

3.) स्पष्ट भाषा ।


पहली बार पाठकों को आपके संदेश के करीब होना चाहिए।कोशिश करें आपकी भाषा और विषय मर्यादित हो आपके पाठको के उन ब्लॉगों पर लौटने की अधिक संभावना है जो उन्हें सकारात्मक रूप से प्रभावित और उत्साह से भर देते हैं।यदि पहला पठन भ्रमित करने वाला है तो दूसरा पठन न होने के समान होगा ।

 

4.) ON पेज ऑफ पेज SEO ।


खोज इंजन सक्रिय ब्लॉगों पर ध्यान देते हैं और ब्लॉग खोज इंजन गतिविधि के प्रति विशेष रूप से संवेदनशील होते हैं।सर्च इंजन आज कल की तुलना में अधिक स्मार्ट हैं जो हमारी सोच से भी परे हैं और केवल स्मार्ट होते जा रहे हैं।लगातार सुधार करते हुए वे समग्र गुणवत्ता की मांग कर रहे हैं;गुणवत्ता वाले ब्लॉग सप्ताह में कई बार अपडेट किए जाते हैं,यदि दैनिक नहीं तो महीने में एक या दो बार आपके उन्हें अपडेट करना  ही होगा ।



5.) वर्तनी जांच।

 

वर्तनी जाँच का प्रयोग करो।इसमें केवल एक मिनट का समय लगता है और यह आपको हैक की तरह दिखने से बचा सकता है।



आपके वेबलॉग के दर्शक पहले काम मात्रा मे होंगे।और स्पष्ट रूप से, होने भी  चाहिए।अगर आप सोचते  हैं कि आपके ब्लॉग के कुछ पोस्ट लिखने के बाद आधा इंटरनेट ट्रैफिक आपके पास आ जाएगा तो ये सोच गल्त है आपको  बस मेहनत के साथ सबर का घूंट भी पीना होगा  



यदि आप गुणवत्ता बनाए रखते हुए इसे कठिन बनाते हैं, तो पाठक संख्या में वृद्धि होगी।आप अच्छे,प्रासंगिक ब्लॉग से लिंक करेंगे और बदले में, वे आपको करेंगे और यदि आपकी सामग्री इंटरनेट पर स्मार्ट तरीके से उत्सर्जित होती है तो आपके पाठक आपके लिए अच्छी प्रतिक्रिया देंगे।

2021-07-11

बदलाव पर सुविचार|thoughts on change

जैसे ही गर्मी के आखिरी दिन चले जाते हैं और शरद ऋतु का अगमन होने लगता है  हम एक बार फिर पहचानते हैं कि परिवर्तन अनिवार्य है।प्रकृति लगातार बदल रही है कभी गर्मी है कभी सर्दी तो कभी पतझड़ तो कभी वर्षा  और फिर भी,बहुत से लोग यह सोचते हैं की परिवर्तन बहुत ही  भयानक है परन्तु ऐसा वास्तव मे नहीं है ।

                        


हमे एक आदत की लत लग जाती है कोशिश करें पर छूटती नहीं है हम उसके मुरीद हो जाते हैं ।कभी-कभी हमें यह महसूस करने की आवश्यकता होती है कि जीवन हमेशा आसान नहीं होता है।हमारे लिए जो बेहतर हो सकता है वह नहीं है जो हम अभ्यस्त हैं, लेकिन यह निश्चित रूप से नई आदतों और जीवन शैली में बदलाव को तोड़ने की परेशानी के लायक है।


हमारी यह इच्छा रहती है की परिवर्तन दुखदाई न हो सब कुछ सुगमता से हो जाये।सुंदर रंगीन पतझड़ के पत्ते प्रिय जीवन के लिए पुराने पेड़ पर नहीं लटकते।नहीं,वे परिवर्तनों को आसानी से स्वीकार कर लेते हैं और पेड़ से धीरे-धीरे उतरने लगते हैं यह प्रकृति का नियम है ।


झरने काम की प्रेरणा{Waterfalls}-2021-जानिए 

{Spirit}+(आत्मा)-जानिए

सच्चा प्यार क्या है |True Love in hindi|-जानिए


शरद ऋतु के आगमन के साथ हम अपने बगीचों में पुराने पौधों को हटा देते हैं और कुछ समय धरती को आराम करने के लिए खाली छोड़ देते हैं।हम जानते हैं कि जमीन को आराम देना चाहिए और अगले साल हमारे बगीचे में हमें प्रसन्न करने के लिए और भी अद्भुत चीजें होंगी।


आपके जीवन मे भी कुछ ऐसी चीजें होगी जिनमे आप भी परिवर्तन लाना या बदलना चाहते है?हो सकता है कि कुछ बुरे रिश्ते या आदतें या विचार हों, जिन्हें आपके जीवन से बाहर निकालने की आवश्यकता हो। 


डॉक्टर को आपके रोग के बारे मे आपसे बेहतर पता है वही आपकी बीमारी को जड़ से काटने में आपकी मदद कर सकता है अगर आप जड़ को नहीं पकड़ेंगे लाख इलाज करवा ले कभी तंदरुस्त नहीं होंगे एक बगीचे का माली भी पोधो को अच्छी तरह से जनता है जब तक हम जड़ों तक नहीं पहुंचेंगे   यह बहुत जल्दी बगीचे में वापस आ जाएगा।


हालांकि फसल का समय यहाँ है,हमारे मन के बगीचे को निराई करने का समय नहीं है।हमें फलने-फूलने और हम जो हो सकते हैं,उसके लिए इस उद्यान को निरंतर ध्यान देने की आवश्यकता है।इस बगीचे को शीर्ष आकार में रखने का एकमात्र तरीका यह सुनिश्चित करना है कि कोई भी खरपतवार हमारे द्वारा किए जा रहे किसी भी अच्छे काम का गला घोंटने की कोशिश न कर रहा हो।हमारे मन के मातम,निश्चित रूप से नकारात्मक विचार हैं जो हमें रेंगना पसंद करते हैं और हमें वह हासिल करने से रोकते हैं जिसके लिए हम प्रयास कर रहे हैं।


हमें डर और नकारात्मकता को अपने पीछे रखना चाहिए।कैसे, तुम पूछते हो? जिस तरह पतझड़ के पत्ते पेड़ से धीरे-धीरे झड़ते हैं,उसी तरह रातों रात अपनी सोच में बदलाव करने की कोशिश न करें और तुरंत परिणाम पाने की उम्मीद करें।हम इन विचारों को अपने दिमाग से उतना नहीं निकाल सकते जितना हम कभी-कभी चाहते हैं।नहीं, हमें अपने प्रति कोमल होना चाहिए और सकारात्मक विचारों को नकारात्मक की जगह लेने देना चाहिए।


आपको अपने दिमाग को सकारात्मक और Positivity से भरना चाहिए। जब आपके मन में नकारात्मक विचार आते हैं, तो आपको उन विचारों को सकारात्मक विचारों से बदलने के लिए तैयार रहना चाहिए। बस अपने आप से कहो, नहीं,मैं उस विचार को अपने मन पर हावी नहीं होने दूंगा, मैं सकारात्मक सोचूंगा।आसानी से उपलब्ध होने के लिए Affirmations अच्छा है ताकि आप नकारात्मक विचार को सकारात्मक से बदल सकें।यह आसान नहीं होगा,यह कठिन भी नहीं होगा,यह बस अलग होगा,जैसे कि जूते की नई जोड़ी के बारे में हम पहले बात कर रहे थे।

 

नए जीवन के लिए रास्ता बनाने के लिए पतझड़ के पत्ते गिरते हैं।हमें भी उन परिवर्तनों से गुजरना होगा जो हमारे शरीर,आत्मा में नई वृद्धि लाएंगे।


परिवर्तन होना स्वाभाविक है तोह हम इसे नज़रअंदाज न करें बल्कि इसको ग्रहण करें और इसके मुताबिक खुद में भी बदलाव लाएं?हां,परिवर्तन के लिए हमें थोड़ा सा समायोजन करने की आवश्यकता होगी।बदलाव से डरो मत,एक बदलाव आपका भला करेगा।

2021-02-25

"जो गरजते हैं वो बरसते नहीं"



जिस इंसान के अंदर कुछ कर दिखाने की चाह होती है वे बोलते नहीं करके दिखाते है।जो कुछ करके नहीं दिखा सकते हैं,उसे व्यर्थ में गर्जना नहीं चाहिए।


जब श्रीराम जी सीता जी को रावण के चुंगल से बचाने के लिए समुद्र पार करना चाहते थे तब समुद्र ने उनको रास्ता नहीं दिया तब श्रीराम ने क्रोध में आकर समुद्र को सुखाने के लिए धनुष पर बाण चढा दिया जिसे देखकर  वह घबराकर भगवान के चरणों में गिरकर रोने लगा तब भगवान को उस पर दया आ गई और बाण नहीं चलाया। श्रीराम जो कहते थे वो कर दिखाने में सक्षम थे। 


वचनबद्ध होना 

 

पहले युगों में जो व्यक्ति ने एक बार कह दिया वहीं पत्थर की लकीर मानी जाती थी लेकिन आज के समय में जो कह दिया उसको थोड़े समय बाद भूल जाते है।


आज के समय का व्यक्ति अपनी बात पर अडिग नहीं रहता।वह सिर्फ बोलना जानता है कुछ कर दिखाने की उसमें काबिलियत नहीं होती।आज के समय को देखते हुए एक-दूसरे पर विश्वास करना कठिन हो गया है क्योंकि आज का व्यक्ति धोखा देने में ज्यादा भरोसा रखता है।         

 

                    "जो गरजते हैं वो बरसते नहीं"


कलयुगी इंसान बड़ी बड़ी डींगे मारने में ज्यादा विश्वास करता है चाहे वह वो काम कर ना पाए। मनुष्य को उतना ही बोलना चाहिए जितना कि वह करने में सक्षम हो अन्यथा वह अपनी निंदा का शिकार हो सकता है। पहले तोलो फिर बोलो यह कहना ग़लत नहीं होगा। 

 

किसी भी काम को करने से पहले उसके विषय मे कुछ नहीं कहना चाहिए बस आपके अंदर उस काम को करने का सामर्थ्य होना चाहिए।इस दुनिया में कोई भी ऐसा काम नहीं है जिसे मनुष्य करने में सक्षम ना हो।


इस विषय को कुछ उदाहरण के साथ समझते हैं

1)बातों ही बातों में कुछ लोग कह देते हैं कि अरे इस काम में तो मैंने पीएचडी कर रखी है परन्तु मौका आने पर ऐसे लोग फ़िशड्डी साबित होते हैं

 

2)इनमे से ही कुछ लोग कहते हैं कि मैं खली जैसे पहलवान को धूल चटा सकता हूँ जब हकीकत से सामना होता है तो वे भीगी बिल्ली बन जाते हैं 


3)एक मुहावरे से आपका ध्यान दिलाना चाहता हूँ कि अपनी गली में तो कुत्ता भी शेर होता है अर्थात वो सिर्फ अपने घर में बोलना जानते हैं परन्तु बाहर जाकर कुछ करने लायक नहीं होते 


4)अपने अक्सर देखा होगा कि बादल जोर जोर से गरजने लगते हैं जिससे हमे यह परतीत होता है कि मूसलाधार वर्षा होने वाली है परन्तु कुछ देर बाद बदल शांत हो जाते हैं तभी तो कहा जाता है जो गरजते हैं वो बरसते नहीं

 

जो मनुष्य यह बोलता रहता है कि मैं यह काम भी कर सकता हूं और वह काम भी कर सकता हूं तो वह मनुष्य अंदर से खोखला होता है। उसके वश में कुछ नहीं होता।वह सिर्फ और सिर्फ अपने मन को तसल्ली ही दे सकता है।

 

एक व्यक्ति जो कुछ करने में सक्षम होता है तो उसे कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है लोग उसकी निंदा चुगली करेंगे पर उसको घबराना नहीं चाहिए 

 

अहंकार के लक्षण

 

जो व्यक्ति अपने आपको दूसरों से ज्यादा होशियार मानता है उसे उसकी यही आदत जीवन में आगे बढ़ने नहीं देती।जो लोग अपने आप जीवन में कुछ कर नहीं पाए उनका काम सिर्फ और सिर्फ दुसरो की चुगली नींदा करना होता है ये लोग बड़ी बड़ी डिंगे   में विश्वास करते हैं आप तो कुछ कर नहीं सकते, इनको दुसरो कि खुशी और मेहनत से डर लगता है ऐसे लोग सर्वत्र एक जैसा ही व्यवहार रखते हैं इनकी जीवनशैली नीरस हो जाती है

 

सफलता प्राप्त करने की इनके मन में कोई उत्तेजना अथवा लालसा नहीं रहती दूसरों से ईर्ष्या करना ही इनका एकमात्र उद्देश्य रह जाता है ऐसे लोगो से सब किनारा करने लगते हैं क्यों की ये सिर्फ बोले हैं कर के कुछ दिखला सकते हैं

                    


इनमे अहंकार का इतना समावेश हो जाता है कि ये  दुसरो को अपने से कम कर के आंकने लग जाते हैं हर चीज़ में उनसे तुलना करने लगते हैं और अपने आपको सर्वश्रेष्ठ मानने  लगते हैं ऐसा सोचने वाले व्यक्ति अपने आप को अँधेरे में रखते हैं वे अंदर से  खोखले और बाहर से दिखावटी होते हैं

 

 

2021-02-07

जीवन संघर्ष है पर स्वप्न नहीं |Life is a struggle but not a dream|

 

 

"जीवन एक बड़ा संघर्ष है।"इस खूबसूरत उद्धरण ने कितनी बार हमारे दिमाग को पार किया है? इस प्रश्न पर हमने कितनी बार विचार किया है?यह सच है,जीवन एक संघर्ष है पर किसी का स्वपन नहीं हो सकता लेकिन हमें इससे परे सोचना शुरू करना होगा।


हिम्मत 💪इतनी रखो कि हर मुश्किल छोटी ✨ लगने लगे।

 

          जीवन संघर्ष है पर स्वप्न नहीं |21| 


जरा सोचिए, हम अपना आधा जीवन यह अध्ययन करने में बिताते हैं कि हम अपना जीवन कैसे जीते हैं और शेष आधा हम जीवन की क्रूरता के बारे में बताते हुए बिताते हैं और यह आदत केवल यह स्पष्ट करती है कि हमारे जीवन में खुशी के लिए कोई जगह नहीं है,हम इससे दूर हैं जीवन के सभी सकारात्मक पहलुओं से दूर।


जीवन में संघर्ष का महत्व

 

सफलता एक बहुत ही व्यक्तिगत चीज है।क्या आपको याद है जब आपने पहली बार अपने जीवन में सफल होने के बारे में सोचा था?शायद इसका संबंध नौकरी,रिश्ते या किसी ऐसे खेल में लक्ष्य हासिल करने से है,जिसमें आप भाग ले रहे थे।कारण चाहे जो भी हो,आपके मन में सफलता की भावना प्रमुखता से उभर कर सामने आई।

 

हाँ आप कर सकते हैं-जानिए 

 

जीवन के 10 नकारात्मक तथ्य और उन्हें दूर करने के सकारात्मक प्रयोग-जानिए 

 

धूम्रपान छोड़ने के {6} उपाय-जानिए

 

एक आदत को तोड़ने + बनाने के लिए कदम-जानिए

 


जिंदगी का संघर्ष कभी समाप्त नहीं हो सकता फिर चाहे वह परिस्थितियों से हो,अपने आप से,समाज में रहने के लिए हो,वर्षों से हम परिस्थितियों और अन्य लोगों को हमारी सफलता के रास्ते में खड़े होने देते हैं।किसी और को काम पर पदोन्नत किया जाता है या स्वास्थ्य संकट के कारण हमें अपनी जीवन शैली को बड़े पैमाने पर बदलना पड़ता है।संघर्ष करने वाला ही जीवन का लक्ष्य प्राप्त करता है धरती से जुड़ा रहकर ही मनुष्य अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है

 

ये जीवन के अनुभव हमें हरा देते हैं और कभी-कभी हमें ऐसा लगता है कि हम हार मान रहे हैं।तब हमें लगता है कि सफलता हमें हमेशा के लिए दूर कर देगी और हम अपने सपनों को छोड़ देंगे।

 

जो हम सोते समय देखते हैं सपने वो नहीं सपने वो जिनको पूरा करने के लिए हम सोते नहीं।


इस समय यदि आप इस लेख को पढ़ रहे हैं तो खुश रहें कि आप अच्छे स्वास्थ्य में हैं एक रात बीत जाने के बाद यदि आप अगले दिन जागते हैंतो भाग्यशाली महसूस करें कि आपको एक बेहतर इंसान बनने का मौका दिया जा रहा है या यह आपकी महत्वाकांक्षाओं की दिशा में काम करने का मौका है। 

 


इन सभी बिंदुओं पर विचार करें उन सभी छोटे-छोटे कार्यों के बारे में सोचें जो आपको दिन भर में मिलते हैं। उन सभी लोगों के लिए जो दिन भर आपके लिए छोटे-छोटे काम करते हैं और याद रखें कि हम उन्हें  बधाई देने के लिए भुगतान नहीं करते,वे हमारी मदद करते हैं क्योंकि वे हमारी परवाह करते हैं।



संघर्ष और जीवन एक दूसरे के पूरक



हम पूरी तरह से गलत होंगे यदि हम सोचते हैं कि हमारे संघर्ष तभी समाप्त होंगे जब हम उस 'एक महान लक्ष्य' को प्राप्त कर लेंगे जिसे हम वर्षों से संजोए बैठे हैंये सब मुझे एक उद्धरण की याद दिलाता है जो कहता है कि "सितारों के लिए लक्ष्य,भले ही आप चूक गए हों,आप चंद्रमा पर उतरेंगे"हमारे दिमाग को दोनों परिणामों को स्वीकार करने के लिए तैयार रहना चाहिए।यदि जीवन में कोई असफलता नहीं थी तो क्यों आपको सफलता के लिए संघर्ष करना पड़ा

 

हम कभी भी संतुष्ट नहीं हो सकते हैं यदि हमारे पास उन सकारात्मक गुणों को पहचानने की क्षमता नहीं है जो जीवन ने हम पर बरसाए हैं।चलो उन सभी गरीब लोगों के बारे में सोचते हैं जो भूखे सो रहे हैं,बेघर लोग, युद्ध के शिकार,अनाथ आदि और अब आप बताएं कि कौन ज्यादा संघर्ष कर रहा है?

 

कल्पना कीजिए कि आप सड़कों पर सोते हैं और एक समय के भोजन के लिए संघर्ष करते हैं।संघर्ष ही सफलता की कुंजी है और जीवन वास्तव में एक बड़ा संघर्ष है लेकिन अगर आप अच्छे स्वास्थ्य में हैं,तो खाने के लिए भोजन और आश्रय के लिए छत होने पर अपने आपको भाग्यशाली महसूस करें।

 


जीवन संघर्ष है पर स्वप्न नहीं |21|

जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मुझे बुरा लगता है कि मैंने इतने साल खो दिए। उस समय मैं उस वित्तीय और व्यक्तिगत सफलता को प्राप्त कर सकता था जिसका मैं अब आनंद लेता हूं,जिसका मैं हकदार था और जिसे आज मैं महसूस कर रहा हूँ लेकिन मुझे नहीं पता था कि कहां से शुरू किया जाए। 
 
 
एक बार जब मैंने कुछ रहस्य सीख लिए तो मेरा जीवन पूरी तरह से बदल गया।मैंने अब इसे अपना मिशन बना लिया है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचें ताकि वे भी अपने जीवन में सफलता का आनंद उठा सकें।
 
 
मैं आपको अभी से शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करता हूं कि आप अपने लक्ष्यों और सपनों को कैसे प्राप्त कर सकते हैं और वह जीवन जी सकते हैं जिसके आप हकदार हैं।



जब आप आने वाले समय को अपनाते हैं,तो परमेश्वर ने आपके सामने कुछ प्रमुख लक्ष्य रखे हैं लेकिन क्या आप मौके का फायदा उठाने जा रहे हैं।


विरोधी ताकतों के बीच में मैं आपको बताता हूं"यह इसके लिए जाने का समय है"।यदि आप इसे सेट करते हैं तो आप इसे प्राप्त कर सकते हैं।आपका सबसे बड़ा दुश्मन शैतान,सहकर्मी,परिवार या आपका बॉस भी नहीं है।मुझे आपको यह बताते हुए खेद नहीं है लेकिन आप अपने सबसे बड़े दुश्मन हैं।

 

मैं ऐसा क्यों कह रहा हूँ?क्यूँकि जब कभी ख़ुदा तुम्हारे दिल में कुछ डाल देता है तो तुम बहाने बनाते हो,तुम टालमटोल करते हो;आप कहते हैं कि मैं इसे बाद में करूँगा,आप कहते हैं कि मुझे कोई मदद नहीं मिल सकती।फिर जब आप प्रदर्शन नहीं करते हैं या प्राप्त नहीं करते हैं तो आप सभी को दोष देते हैं।



मैं आपको 6 चीजों में मदद करना चाहता हूं जो आपको इसके लिए जाने में मदद कर सकती हैं:-



1.फिर से समायोजित करें - ऐसे समय होते हैं जब आपको बस एक और दृष्टिकोण अपनाना होता है और दिशा बदलनी होती है,अपनी आवश्यकता के परिणाम प्राप्त करने के लिए दूसरी विधि का प्रयास करना होता है।



2. रीसेट - मुझे यकीन है कि आप घर पर बिजली खोने से परिचित हैं जिसका मतलब है कि आपको अपनी घड़ी को रीसेट करना होगा।यह महत्वपूर्ण है यदि आप समाज के समय के साथ चलने वाले हैं।आध्यात्मिक रूप से इससे भी अधिक महत्वपूर्ण है परमेश्वर के समय के प्रवाह के साथ चलने में सक्षम होना।



3. चिंतन करें - देखें कि आप कहां से आए हैं।यह वही है जो आपको उन चुनौतियों का सामना करने की ताकत देता है जिनका आप अभी सामना कर रहे हैं।



4. रीफोकस - आपके आस-पास इतने सारे विकर्षणों और प्रलोभनों के साथ कुछ ऐसा चाहिए जो आपको पाठ्यक्रम पर वापस आने में मदद करे।परमेश्वर के वचन से बेहतर कुछ नहीं है।



5. नवीनीकरण - जी हाँ, वही एहसास आपको नहाने या शॉवर लेने के बाद मिलता है।यह आपको नया,स्वच्छ, ताजा और फिर से जाने के लिए तैयार महसूस कराता है।अपनी सोच को सही रास्ते पर लाने के लिए अपने दिमाग का नवीनीकरण करना महत्वपूर्ण है।



6. आनन्द - जीवन में अपने आनंद को बनाए रखने के लिए आपको जश्न मनाना होगा।जीवन में कई निराशाएँ होंगी लेकिन आपको ताकत को जगाना होगा और आनन्दित होने का कारण खोजना होगा।

 

 

जिस प्रकार सोने को पिघला कर अनेक प्रकार के आभूषण तैयार किए जाते हैं उसी प्रकार जितना आपका जीवन संघर्षरत होगा उतना ही आप अंदर से मजबूत और तजुर्बेगार इंसान साबित होंगे ।


जो चल रहा है उसी के पैर में तो ताला होगा, बिना संघर्ष के इंसान चमक नहीं सकता जो जलेगा उसी दीप में तो उजाला होगा।

Popular Posts